जीवन और परमेश्वर के बारे में सवालों का पता लगाने के लिए एक सुरक्षित जगह
जीवन और परमेश्वर के बारे में सवालों का पता लगाने के लिए एक सुरक्षित जगह
पसन्द  
साझा करें  

कामोत्तेजक लेख या चित्र, विषाक्त सेक्स: अश्लील साहित्य पर एक वास्तविक नज़र

कामोत्तेजक लेख या चित्र (पोर्न) की लत से आज़ादी पाइए, देखिए कामोत्तेजक साहित्य के बारे में नौ (9) असत्य कथन, और उनसे मुक्त होने के उपाय

जीन मेक्कोनल के द्वारा लिखित

कामोत्तेजक लेख या चित्र और लत…अप्रसंगिक सेक्स (यौन)

एक ठंडी, काली रात में अंगीठी की आग की गरमाई से अच्छा और कुछ नहीं होता। यह सुरक्षित, गर्म और आरामदायक होती है। अब आप इस आग को अंगीठी से बाहर निकालकर अपने कमरे के बीच में गिरा दीजिए। अचानक, यह आग सर्वनाशक बन जाती है, क्योंकि यह अपने सुरक्षित स्थान से बाहर है। सेक्स, या यौन, भी इस आग के समान है। जब तक यह शादी के रिश्ते के सुरक्षित बंधन में बँधा है, यह बहुत ही अद्भुत, और रोमानी है। पर कामोत्तेजक लेख या चित्र यौन को उस विषय से बाहर ले जाता है।

कामोत्तेजक लेख या चित्र (पोर्न) की लत को ईंधन क्या देता है?

एक अच्छे मानसिक वातावरण का महत्वपूर्ण अंग यह जानना है कि हम लैंगिक दृष्टि से कौन हैं? अगर यह विचार प्रदूषित हों, तो हमारे व्यक्तित्व का एक महत्वपूर्ण अंग टेढ़ा हो जाता है। कामोत्तेजक लेख या चित्र की संस्कृति यह कहती है कि यौन, प्रेम और अंतरंगता सब एक समान हैं। कामोत्तेजक साहित्य में, लोग कुल अजनबियों के साथ यौन करते हैं -- उन लोगों के साथ जिनसे वह अभी मिले थे। उनके लिए केवल उनकी संतुष्टि मायने रखती है। इससे कोई फर्क नहीं पड़ता कि वे किसके शरीर का प्रयोग कर रहे हैं। जब तक उन्हें शरीर मिलता है उनके लिए ठीक है। कामोत्तेजक संस्कृति आपको यह सोचने के लिए प्रेरित करता है, कि यौन (सेक्स) कुछ ऐसा है जिसे आप किसी भी समय, कहीं भी, बिना किसी प्रभाव के, किसी के भी साथ भी कर सकते हैं।

-कामोत्तेजक लेख या चित्र के उथले/सतही दृष्टिकोण के साथ समस्या यह है कि उसके अनुसार, रिश्ते सेक्स के कारण बनते हैं न कि प्रतिबद्धता, देखभाल और आपसी विश्वास से। इस संदर्भ में, अंगीठी की आग सही जगह होने की तरह, सेक्स या यौन अत्युत्तम है। किसी ऐसे व्यक्ति के साथ होना जो आपको प्यार करता है और स्वीकार करता है, जो पूरा जीवन आपके साथ बिताने के लिए प्रतिबद्ध है, जिसे आप पूर्ण रूप से अपने आप को सौंपने के लिए तैयार हैं, यह सेक्स को वास्तव में महान बनाता है।

कामोत्तेजक लेख या चित्र (पोर्न) व्यसन/लत्त से स्वतंत्रता प्राप्त करने के लिए- झूठ को पहचानें

यौन/सेक्स के बारे में सत्य आप कामोत्तेजक लेख या चित्र से नहीं जान सकते। इसका सत्य से कोई सरोकार नहीं है। यह ज्ञान देने के लिए नहीं बना है, बल्कि बेचने के लिए बना है। यह एक बड़ा व्यवसाय है जो बहुत ज्यादा पैसे बनाता है, बिना इसकी परवाह करे कि वह पैसे कैसे बनते हैं। वह आपको वो दिखाएँगे जो वे सोचते हैं कि आपको वापस खींचेगा और अधिक खरीदने के लिए विवश कर देगा। अतः, कामोत्तेजक साहित्य आपको कोई भी झूठ बताएगा जिससे की दर्शक आकर्षित हों और वहाँ ठहरने के लिए मजबूर हो जाएँ। अश्लील/कामोद्वीपक लेख या चित्र, झूठ पर जीवित है – सेक्स, औरत, विवाह और बहुत सी दूसरी चीजों के बारे में झूठ। आइए, उन झूठों (असत्य) में से कुछ को देखें, और देखें कि वे आपके जीवन और दृष्टिकोण/मनोवृत्तियों को कितनी बुरी तरह खराब कर सकते हैं।

• असत्य #1 – महिलाएं मानव से कम ह

अमरीकी पत्रिका ‘प्लेबॉय’ में औरतों को ‘बनीस’ (हिंदी में - ‘छोटे खरगोश’) कहा जाता है। उनको इस प्यारे से जानवर की तरह, ‘खेलने का एक खिलौना’ जैसा बनाकर दिखाया जाता है। एक और पत्रिका ‘पेंटहाउस’ में, उन्हें “पालतू पशु” (pets) कहा जाता है। पोर्न (कामोत्तेजक लेख या चित्र) महिलाओं को जानवर, खेलने की वस्तु, या शरीर के अंगों के रूप में संदर्भित करता है। कुछ कामोत्तेजक चित्र (पॉर्नाग्रफ़ी) औरतों के शरीर या गुप्तांग को दिखाते हैं और उनका चेहरा कभी नहीं दिखाते। यह विचार कि महिलाएं वास्तविक मनुष्य हैं, जिन के पास विचार और भावनाएँ हैं, कम करके दिखाया जाता है।

• असत्य #2 – महिलाएँ एक “खेल” हैं

कुछ खेल की पत्रिकाओं में “स्विमिंग सूट” का अंक होता है। ये यह सुझाव देती हैं कि औरतें किसी तरह का खेल हैं। कामोत्तेजक साहित्य (पोर्न), सेक्स को एक खेल की तरह लेता है जिसमें आपको “जीतना”, “अधिकार करना”, या इस खेल में “अंक बनाने (स्कोर करना)” हैं। जो पुरुष इस विचार धारा को रखते हैं, वे महिलाओं के साथ “स्कोरिंग" या ‘खेल में जीते अंक’ की तरह बात करना पसंद करते हैं। वे अपनी मर्दानगी का निर्णय इसके अनुसार करते हैं कि उन्होंने कितनी महिलाओं को “जीता”। प्रत्येक महिला जिसे मैं "स्कोर" करता हूं, मेरे शेल्फ़ पर रखी एक और ट्रॉफी है, मेरी मर्दानगी को साबित करने के लिए।

• असत्य #3 – महिलाएँ एक संपत्ति (या सामग्री) हैं

हम सबने उन चमकदार चिकनी मोटर गाड़ियों की तस्वीरें देखी है जिनके साथ आकर्षक लड़कियाँ लिपटी होती हैं। उनमें अनकहा संदेश यह मिलता है, “एक खरीदिए और आपको दोनों मिलेंगी।” कड़ा-कामुक लेख इसे और आगे ले जाता है- वह औरतों को सूचीपत्र में माल या सामग्री की तरह प्रदर्शित करता है, उनको जहाँ तक हो सके नग्न दिखाया जाता है ताकि ग्राहक की नजर उन पर पड़ सके। यह आश्चर्य की बात नहीं है कि कई युवा लड़के यह सोचते हैं कि अगर वे थोड़ा पैसा खर्च करके एक लड़की को अपने साथ बाहर ले जा सकते हैं, तो उन्हें उनके साथ यौन संबंध बनाने का भी पूरा अधिकार है। कामुक साहित्य हमें बताता है कि औरतों को खरीदा जा सकता है।

• असत्य #4–एक महिला का महत्व उसके आकर्षक शरीर के कारण होता है

कामोत्तेजक साहित्य में कम आकर्षक औरतों की हँसी उड़ाई गई है। उन्हें कुत्ता, व्हेल, सूअर, या उससे भी बदतर कहा जाता है, सिर्फ़ इसलिए क्योंकि वे "परिपूर्ण" महिला के अश्लील मानदंड में फिट नहीं होती हैं। कामोत्तेजक साहित्य औरत के मस्तिष्क या व्यक्तित्व की परवाह नहीं करता- इसे केवल औरतों के शरीर से मतलब होता है।

• असत्य #5 – महिलाओं को बलात्कार पसंद है

“जब वह “नहीं ” कहती है तो उसका मतलब “हाँ” होता है” एक ठेठ कामोत्तेजक साहित्य का दृश्य है। औरतों को पहले बलात्कार होते हुए, लड़ते हुए, पैरों से मारते हुए दिखाया जाता है, और फिर धीरे-धीरे उन्हें उसे पसंद करते हुए दिखाया जाता है। पोर्न/कामुक साहित्य, पुरुष को अपने मनोरंजन के लिए औरत को कष्ट देने, और दुर्व्यवहार करने में आनंद लेना सिखाता है।

• असत्य #6 – महिलाओं को अपमानित करना चाहिए

कामोत्तेजक साहित्य अक्सर औरतों के प्रति घृणात्मक भाषणों से भरा है। औरतों पर अत्याचार और उन्हें अपमानित होते हुए कई बुरे तरीकों से दिखाया गया है और उनको यही सब और अधिक मांगते हुए भी दिखाया गया है। क्या इस तरह का व्यवहार महिलाओं के प्रति किसी प्रकार का आदर या प्रेम दिखा सकता है? या फिर यह महिलाओं के प्रति घृणा और तिरस्कार है जिसको कि यह कामोत्तेजक साहित्य बढ़ावा दे रहा है?

• असत्य #7 – छोटे बच्चों को यौन करना चाहिए

कामोत्तेजक साहित्य की सबसे ज्यादा बिकनेवाली में से एक “बच्चा बनने की नकल” करके यौन करना है। औरतों को छोटी बच्चियों के जैसे “बनाया जाता” है- बच्चों जैसी चोटियाँ बना कर, बच्चियों के जूते पहनाकर, और हाथ में छोटे भालूवाला खिलौना लेकर। उन तस्वीरों और कार्टून से यह संदेश मिलता है कि बड़े यदि बच्चों के साथ यौन करते हैं तो वह सामान्य बात है। कामोत्तेजक साहित्य का प्रयोग करनेवाले तब बच्चों को यौनात्मक तरीके से देखना शुरू कर देते हैं।

• असत्य #8 – अवैध सेक्स मनोरंजक होता है

पोर्न यह बताता है कि सेक्स को “दिलचस्प" बनाने के लिए अवैध या खतरनाक तत्वों का छिड़का जाना आवश्यक है। वह यह सुझाव देता है कि सेक्स का आनंद तब तक नहीं लिया जा सकता जब तक वह अनोखा, अवैध या खतरनाक न हो।

• असत्य #9 – वैश्यावृत्ति मोहक होती है

कामोत्तेजक साहित्य वैश्यावृत्ति की रोमांचक तस्वीर प्रस्तुत करता है। कई महिलाएँ, जो कि कामोत्तेजक कामों में दिखाई देती हैं, वास्तव में घर से भागी हुई होती हैं और गुलामी/दासता के जीवन में फँसा ली जाती हैं। कई यौन दुर्व्यवहार का शिकार होती हैं। उनमें से कुछ यौन संचारित रोगों से संक्रमित होती हैं, जिसके कारण वे बहुत छोटी आयु में ही मर जाती हैं। कई महिलाएँ इन परिस्थतियों से समझौता करने के लिए नशीली दवाइयाँ लेने लगती हैं।

कामोत्तेजक लेख या चित्र (पोर्न) की लत का मुख्य निष्कर्ष

युवतियों की बर्बाद की गई जिन्दगी से कामोत्तेजक साहित्य लाभ उठाते हैं, और युवकों को फँसाते हैं, जो अपना बहुत सा समय और पैसा उनके उत्पाद के अधीन होकर खर्च करते हैं।

-हम यह सोचते हैं कि जिन चीजों को हम देखते और सुनते हैं वे हमें प्रभावित नहीं करती। फिर भी हम यह मानते हैं कि मधुर संगीत, अच्छी फ़िल्में, और अच्छी किताबें हमारे जीवन में बहुत कुछ जोड़ती हैं। ये हमें आराम देती हैं, ज्ञान देती हैं, हमें प्रभावित और प्रेरित करती हैं। जिस प्रकार उत्थान करने वाले मीडिया से हमें लाभ पहुंचता है, उसी प्रकार अश्लील छवियों का हमारे ऊपर नकारात्मक प्रभाव पड़ता है।

छवियाँ हमेशा निष्पक्ष नहीं होती। वे हमें बाध्य कर सकती हैं। व्यवसाय करनेवाले जानते हैं कि अगर वे अपने उत्पाद की बाध्य करनेवाली छवि आपके समक्ष, एक अत्यन्त भावात्मक क्षण में प्रस्तुत करते हैं, तो वह छवि आपके अवचेतन मन में रह जाएगी।

विज्ञापन दिखानेवाले वैज्ञानिक अपने काम में बहुत ही चतुर होते हैं। वे भविष्यवाणी कर सकते हैं कि यदि आप उनका विज्ञापन देखेंगे, तो आप उनका और कितना उत्पाद ख़रीदेंगे। कई बार, दर्शक उत्पाद का नाम भी नहीं देखते हैं। अमरीका की एक कैंडी की कम्पनी ‘रीस पीसेस’ ने अपनी कैंडी के विज्ञापन को, “ई.टी.” नामक एक प्रसिद्ध फ़िल्म के दौरान, कुछ सेकंड दिखाए जाने के लिए बहुत पैसा दिया, और ‘रीस पीसेस’ की बिक्री आकाश को छूने लगी। क्यों? क्योंकि, फ़िल्म में, वह भावना जो उस छोटे लड़के के एक अजनबी को स्वीकारने से जुड़ी थी, वह भावना कैंडी की छवि की ओर स्थानांतरित कर दी गयी थी। यदि एक उत्पाद के विज्ञापन का एक-क्षण का दर्शन--भले ही वह ध्यान का केन्द्र नहीं था--लोगों के व्यवहार को प्रभावित कर देता है, तो यह कल्पना कीजिए कि एक ऐसा चलचित्र, जिस में आपका ध्यान डेढ़ घण्टे तक यौन व्यक्त छवि के साथ स्क्रीन पर चिपका कर रखता है, उसका प्रभाव आप पर कितना होगा!

कामोत्तेजक लेख या चित्र (पोर्न) का क्या प्रभाव होता है -

कामुक लेख या चित्र, किस प्रकार के विचार हमारे दिमाग में भरते हैं? अगर गलत चीजें मस्तिष्क में जमा होती रहेंगी, तो आपका मानसिक वातावरण इतना ज्यादा प्रदूषित हो जाएगा कि आपके जीवन में समस्याएँ शुरू हो जाएँगी। मानसिक वातावरण के सबसे महत्वपूर्ण भागों में से एक यह है कि हमारे अंदर एक स्वस्थ विचार हो कि हम यौन रूप (लैंगिक दृष्टि) से कौन हैं। यदि ये विचार प्रदूषित हैं, तो हम जो हैं, उसका एक महत्वपूर्ण हिस्सा भी प्रदूषित हो जाएगा।

कामोत्तेजक लेख या चित्र (पोर्न) की लत: उसके प्रति खिंचाव

वह सभी जो कामुक अश्लील लेख/चित्र पढ़ते, या देखते हैं, जरूरी नहीं है कि उनको इसकी लत पड़ जाए। कुछ लोग औरतों, यौन, विवाह और बच्चों के प्रति विषाक्त विचार लेकर इसमें से निकलते हैं। पर कुछ लोग इससे भावनात्मक रूप से जुड़ जाते हैं, और उस नशे के आदी हो जाते हैं। पोर्न बनाने वाली कम्पनियों को बिल्कुल बुरा नहीं लगता, अगर आप उनके उत्पाद के आदी हो जाएँ। उनके व्यवसाय के लिए तो यह और भी अच्छा है।

डॉक्टर ‘विक्टर क्लाइन’ ने लत/नशे की उन्नति को विभिन्न स्तरों पर बाँटा है - लत, लत की वृद्धि, विसुग्राही, और प्रदर्शन करना। जिन्हें पोर्न की लत है, मैंने देखा है कि उन में एक और स्तर है जो पहले आता है – समय से पहले किसी चीज़ का प्रभाव होना। आइए इन स्तरों को देखते हैं:

समय से पहले किसी चीज़ का प्रभाव होना-
अधिकतर लोग जिन्हें कामुक अश्लील साहित्य की आदत पड़ जाती है, वे हैं जो उसे जल्दी शुरू करते हैं- बचपन से ही वे कामुक अश्लील साहित्य देखना और पढ़ना शुरू कर देते हैं और धीरे-धीरे यह उनके जीवन में अपना घर कर लेती है।

पोर्न की लत
आप बार-बार कामोत्तेजक लेख या चित्र की तरफ लौटते हैं। यह आपके जीवन का एक नियमित अंग बन जाता है। आप मोहित हो जाते हैं और उसे छोड़ नहीं सकते।

लत की वृद्धि
आप और ज्यादा चित्रात्मक या सजीव कामोत्तेजक लेख (या चित्र) ढूढ़ने लगते हैं। कुछ प्रकार के कामुक चित्र या लेख जिन से आप पहले घृणित होते थे, उसका भी आप प्रयोग करने लगते हैं। अब, यह भी आपको उत्तेजित करता है

विसुग्राही
आप जिन छवियों को देखते हैं उनके प्रति आप सुन्न होना शोरू हो जाते हैं। अब सबसे अधिक चित्रात्मक या सजीव कामोत्तेजक लेख या चित्र भी आपको उत्तेजित नहीं करता। आप बेतहाशा उस उत्तेजना/रोमांच को फिर से पाना चाहते हैं, पर वह आपको नहीं मिलती।

कामुकता अभिनय
यह वही क्षण है जहाँ पुरुष एक महत्त्वपूर्ण छलांग लगाते हैं, और जिन छवियों को उन्होंने देखा है उसका वे दर्शाना चाहते हैं। कुछ लोग कागज और प्लास्टिक की कामुक छवियों से निकलकर वास्तविक जगत में चले जाते हैं, और वास्तविक लोगों के साथ उसका अभिनय विनाशक तरीकों से करते हैं।

कामोत्तेजक लेख या चित्र (पोर्न) की लत: क्या मैं लत से ग्रस्त हूँ?

यदि आप इनमें से किसी भी तरह का प्रतिरूप अपने जीवन में देखते हैं, तो आपको इसी समय इसे रोकना होगा। क्या कामुक साहित्य अधिक से अधिक आपके जीवन का नियंत्रण कर रहा है? क्या आपको उसे दूर करने में मुश्किल हो रही है? क्या आप बार-बार उसके पीछे भागते हैं?

कामोत्तेजक लेख या चित्र (पोर्न) की लत: मैं क्या कर सकता हूँ?

सबसे पहली बात जो आपको करनी होगी वह यह स्वीकार करना होगा कि आप पॉर्नाग्रफ़ी या कामोत्तेजक लेख या चित्र के साथ संघर्ष कर रहे हैं। आप विश्वास कीजिए, जिस संघर्ष में आप हैं वह आश्चर्यजनक और असामान्य नहीं है। करोड़ो लोग अलग-अलग स्तर पर कामुक अश्लील साहित्य से संघर्ष कर रहे हैं। वास्तव में यह आश्चर्यजनक बात नहीं है। कामुक/पोर्न उद्योग ने आपको जाल में फँसाने की कोशिश में करोड़ों रुपए खर्च किए हैं। तो क्या यह सचमुच चौकानेवाली बात है कि वे अपनी कोशिश में कामयाब हो गए हैं? आप में से कुछ के भूतकाल में कुछ मुद्दे होंगे, जैसे यौन दुर्व्यवहार या यौन अनावरण, जिसके कारण कामुक अश्लील साहित्य की लत को छोड़ना और कठिन हो गया है। बिना मदद के इस लत से लड़ना, इसे छुड़ाने में कोई सहायता नहीं करती।

आपको इस लत को तोड़ने के लिए किसी की मदद चाहिए! गोपनीयता से बाहर निकल कर किसी को अपने संघर्ष के बारे में बताना अत्यंत आवश्यक है। शायद आप इसके बिना लत से नहीं बच सकते। इसका यह मतलब नहीं है कि सारी दुनिया को यह मालूम पड़े कि आप संघर्ष कर रहे हैं। आप जिस पर विश्वास कर सकते हैं, उसे चुनिए। किसी ऐसे व्यक्ति को चुने, जो उन लोगों को परामर्श देते हैं जिन्हें लत छोड़ने में कठिनाई हो रही हो- एक पादरी, चर्च के युवा समूह का नेता या सलाहकार। वह जिसपर आप पूरी तरह से विश्वास कर सकते हैं, जिसके साथ आप अपने आपको सुरक्षित महसूस करते हैं, जिसका लत के क्षेत्र में अनुभव है।

कामोत्तेजक लेख या चित्र (पोर्न) की लत से क्या मुक्ति/आज़ादी पाई जा सकती है?

पोर्नोग्राफ़ी/कामोत्तेजक लेख या चित्र झूठ के द्वारा आपको फँसाता है। इसके विपरीत, परमेश्वर हमें सच्चाई में ले जा सकते हैं। यीशु मसीह ने कहा, “यदि तुम मेरे वचन में बने रहोगे, तो सचमुच मेरे चेले ठहरोगे और सत्य को जानोगे, और सत्य तुम्हें स्वतंत्र करेगा।”1 जिन्होंने यीशु मसीह को यह कहते सुना, वे कुपित हो गए और उन्होंने उसका विरोध किया, “हम तो कभी किसी के दास नहीं हुए; फिर तू क्योंकर कहता है, कि तुम स्वतंत्र हो जाओगे?”2 और यीशु मसीह ने उन्हें समझाया कि वे पाप के दास हैं, परंतु वह (यीशु) उन्हें स्वतंत्र कर सकता है।3

पाप केवल हमें अपना गुलाम/दास नहीं बनाता, बल्कि हमें परमेश्वर से भी दूर कर देता है। और, कोई भी दोषहीन या उत्तम या निष्कलंक नहीं है। परमेश्वर की नजर में कोई धर्मी नहीं है। बल्कि हमें बताया गया है कि, “हम तो सब के सब, भेड़ों की नाईं भटक गए थे; हम में से प्रत्येक व्यक्ति अपने-अपने मार्ग पर चल रहा है।”4 हम सभी परमेश्वर के न्याय और दण्ड के लायक हैं।

फिर भी परमेश्वर, जो कि पवित्र और प्रेम करने वाला है, उसने हमारे पापों का एक समाधान दिया है, ताकि हम न्यायपूर्ण तरीके से दंडित न हों। उसने व्यक्तिगत रूप से हमारे पापों का दंड अपने ऊपर ले लिया। यीशु मसीह, परमेश्वर के पुत्र, को यातनाएँ दी गईं और वे क्रूस पर हमारे पापों के लिए मरे ताकि हमें क्षमा प्राप्त हो सके। तीन दिन बाद यीशु मसीह का पुनरुत्थान हुआ, जैसा कि उन्होंने कहा था होगा। और अब वे आपको अपने साथ एक रिश्ता बनाने का प्रस्ताव दे रहे हैं। बाइबल के अनेक अद्भुत वचनों में से एक यह है, “यदि हम अपने पापों को मान लें, तो वह हमारे पापों को क्षमा करने और हमें सब अधर्म से शुद्ध करने में विश्वासयोग्य और धर्मी है।”5

सबसे महत्त्वपूर्ण रिश्ता

अत्यंत घनिष्ठता और प्रेम की आपकी खोज में, पोर्नोग्राफ़ी/कामोत्तेजक लेख या चित्र, सच्चे प्यार का एक खाली विकल्प है। हमें परमेश्वर ने बनाया है ताकि हमारी घनिष्ठता की आवश्यकता स्वयं परमेश्वर के द्वारा गहराई से पूरी की जा सके। “क्योंकि परमेश्वर ने जगत से ऐसा प्रेम रखा कि उस ने अपना एकलौता पुत्र दे दिया, ताकि जो कोई उस पर विश्वास करे, वह नाश न हो, परन्तु अनन्त जीवन पाए।”6

जो अंधेरा और विनाश कामोत्तेजक लेख या चित्र मनुष्य के जीवन में लाते हैं, इन के विपरीत यीशु मसीह ने कहा, “मैं इसलिये आया कि वे जीवन पाएं, और बहुतायत से पाएं।”7 परमेश्वर आपको अपनी क्षमा, उसके साथ एक रिश्ते के रूप में देते हैं। क्या आप उनसे आपको क्षमा करने और आपके जीवन में आने के लिए पूछना चाहते हैं? आप उन्हें यह अभी इसी समय बता सकते हैं। अगर आपको इसे शब्दों में कहने के लिए मदद की जरूरत है तो यहाँ एक प्रार्थना है जो आपकी मदद कर सकती है:

“प्रभु यीशु मसीह, मैं अपने पापों से अवगत हूँ, और मुझे ये पता है की आप भी अवगत हैं। मुझे आपकी जरूरत है। मैं आपसे प्रार्थना करता हूँ कि मुझे क्षमा कीजिए और मुझे शुद्ध कीजिए। मेरे पापों के लिए क्रूस पर चढ़ कर मरने के लिए धन्यवाद। मैं आपको मेरे जीवन में आने का निमंत्रण देता हूँ। मेरे जीवन को अपने नियंत्रण में लीजिए और मुझे उस तरह का इंसान बनाइए जैसा कि आप चाहते हैं कि मैं बनूँ। मेरे पापों को क्षमा करने के लिए और इसी समय मेरे जीवन में आने के लिए धन्यवाद।”

 मैंने यीशु को अपने जीवन में आने के लिए कहा (कुछ उपयोगी जानकारी इस प्रकार है) ...
 हो सकता है कि मैं अपने जीवन में यीशु को बुलाना चाहूँ, कृपया मुझे इसके बारे में और समझाएँ...
 मेरा एक सवाल है ...

फ़ुट्नोट: (1) यूहन्ना 8:31-32 (2) यूहन्ना 8:33 (3) यूहन्ना 8:34 (4) यशायाह 53:6 (5) 1यूहन्ना 1:9 (6) यूहन्ना 3:16 (7) यूहन्ना 10:10

TOP